PMDC motor | स्थायी चुम्बक डीसी मोटर

0
64

तो दोस्तों आज के Pmdc motor इस आर्टिकल में हम परमानेंट मैगनेट dc motor याने की स्थायी चुम्बक डीसी मोटर के बारेमें जानने वाले है | Pmdc motor के काम करने का तरीका उसके गति को कण्ट्रोल कैसे करे इसके बारेमे जानेंगे साथी साथ इस मोटर के फायदे नुकसान और उपयोग के बारेमे भी जानेंगे |

permanent magnet (Pmdc motor) स्थायी चुम्बक डीसी मोटर :-

परमानेंट मैगनेट डीसी मोटर (PMDC) एक साधारण डीसी शंट मोटर की तरह ही होती है, इसमे फरक सिर्फ इतना होता है की इसके फील्ड के लिए permanent magnet का इस्तेमाल किया जाता है ना की silent pole wound field .

निचे दिखाए चित्र में हम 2 पोल स्थायी चुम्बक डीसी मोटर को देख सकते है | इस मोटर का कार्यसिधान्त भी साधारण डीसी मोटर की तरह ही होता है, याने की जब भी करंट को लेजाने वाले कंडक्टर को मैग्नेटिक फील्ड में रखा जाता है तब कंडक्टर में मैकेनिकल फ़ोर्स उत्पन्न होता है |

PMDC motor
PMDC motor

इस मोटर का अगर उदाहरण देखा जाये तो वो बच्चो के खिलोने में इस्तेमाल होने वाली मोटर उसमे यही मोटर का इस्तेमाल किया जाता है क्यू की इसकी बनावट बोहोत आसान होती है |

इसके इस्तेमाल के और उदाहरण देखे तो इनका इस्तेमाल एक स्टार्टर मोटर की तरह इस्तेमाल किया जाता है जैसे की वॉशर में विंड शील्ड वॉशर में, air conditioner में |

यह भी पढ़े:- ट्रांसफार्मर क्या है?

Construction of permanent magnet dc motor और PMDC motor ( स्थायी चुम्बक डीसी मोटर बनावट ):-

इस मोटर के 2 पोल बनावट का चित्र हम ऊपर देख सकते है साथी साथ निचे दिखाए चित्र में हम 4 पोल मोटर का चित्र देख सकते है | इस मोटर में परमानेंट मैगनेट को एक जगह बनाये रखने के लिए cylindrical स्टील स्टेटर का इस्तेमाल किया जाता है |

PMDC motor
PMDC motor

उसका यह भी काम होता है की मैग्नेटिक फ्लक्स को return path दे सके |

अगर रोटर याने की आर्मेचर की बात की जाये तो उसमे वाइंडिंग स्लॉट होते है साथी साथ कम्यूटेटर सेगमेंट और ब्रश होते है | इन मोटर में 3 तरह के permanent magnet का इस्तेमाल किया जाता है, और इसमे जो सामग्री का इस्तेमाल किया जाता है उसमे residual flux density और high coercivity होती है |

  1. Alnico magnets – इनका इस्तेमाल 1 kW से 150 kW तक की रेंज के लिए किया जाता है |
  2. Ceramic (ferrite) magnet – यह बोहोत इकोनोमिकल होती है और इनका इस्तेमाल कम kW के लिए किया जाता है |
  3. Rare-earth magnets – यह मैगनेट samarium cobalt और neodymium iron cobalt से बनी होती है और इनसे अच्छा आउटपुट मिलता है |

Working of permanent magnet dc motor ( चुम्बक डीसी मोटर का कार्यसिधान्त):-

निचे दिखाए चित्र में हम इस मोटर के परफॉरमेंस कर्व को देख सकते है | इसके स्पीड-टार्क के कर्व को अगर देखा जाये तो वो सीधे लाइन में है याने की इसका इस्तेमाल सर्वो मोटर के साथ बोहोत अच्छे से किया जा सकता है |

PMDC motor
PMDC motor

इसके अलावा अगर देखा जाये तो तो इस मोटर में इनपुट करंट बढ़ता जाता है लोड टार्क के साथ |

इन मोटर की एफिशिएंसी बोहोत ज्यादा होती है wound field dc motor के मुकाबले क्यू की इनमे field loss नहीं होते है |

Speed control of PMDC motor (पिएम डीसी मोटर गति नियत्रण):-

जैसे की हमें पता है की फ्लक्स एक समान रहते है उसकी वजह से मोटर की गति को फ्लक्स कण्ट्रोल तकनीक से कम नहीं किया जा सकता है | इस मोटर की गति को अगर कम करना हो तो उसके लिए आर्मेचर वोल्टेज को कम ज्यादा करना पड़ता है, उसके लिए आर्मेचर रेओस्टेट का इस्तेमाल किया जाता है या फिर x-chopper का इस्तेमाल किया जाता है |

इस तरह के मोटर का इस्तेमाल वाही पर किया जाता है जिस जगह पर गति को बेस लेवल से कम करने की जरुरत होती है |

Dc मोटर के गति की कम करने के तरीको के बारेमे जानने के लिए Speed control of dc motor यह आर्टिकल पढ़े |

Advantages of Permanent magnet dc motor (पिएम डीसी मोटर के फायदे):-

  1. बोहोत ज्यादा कम रेटिंग की मोटर हो तब इसको बनाने का खर्चा बोहोत कम हो जाता है |
  2. इस मोटर का अकार भी छोटा होता है वौण्ड फील्ड dc motor के मुकाबले जबकि रेटिंग एक समान होती है |
  3. कम वोल्टेज मोटर कम एयर नोइस उत्पन्न करती है |
  4. इन मोटर की एफिशिएंसी वौण्ड फील्ड मोटर से ज्यादा होती है |
  5. कम वोल्टेज के लिए डिजाईन की गई मोटर TV और radio के लिए कम interference करती है |

Disadvantages of permanent magnet dc motor (पिएम डीसी मोटर के नुकसान):-

  1. इस मोटर में जब मोटर को इस्तेमाल में नहीं लिया जाता है उस वक्त भी मैग्नेटिक फील्ड सक्रीय रहती है, इसकी वजह से इन मोटर को पूरी तरह से बंद याने enclosed किया जाता है ताकि आजू बाजु से मैग्नेटिक जंक को अपने तरफ न ले सके |
  2. वौण्ड फील्ड मोटर के मुकाबले इसका तापमान ज्यादा होता है क्यू की यां पूरी तरह से बंद होती है |
  3. इस मोटर का सबसे बड़ा नुकसान ये है की इनमे इस्तेमाल किये जाने वाले परमानेंट मैगनेट को demagnetise करने के लिए आर्मेचर रिएक्शन mmf का इस्तेमाल किया जाता है लेकिन वह ठीक से नहीं हो पता है क्यू की उसके लिए कई कारन जिन्मेदार होते है जैसे की डिजाईन अच्छे से ना करना, आर्मेचर करंट का ज्यादा होना, ब्रश शिफ्ट का अच्छे n होना, तापमान में बदलाव |

Application of PMDC motor (पिएम डीसी मोटर के इस्तेमाल):-

  1. इन मोटर का उस जगह पर ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है जी जगह पर छोटे DC motor की जरुरत होती है |
  2. 12 v PMDC मोटर का इस्तेमाल गदियोमे हीटर में और एयर कंडीशनर ब्लोअर में इस्तेमाल किये जाते है|
  3. विंडशील्ड वाइपर, फैन, रेडियो अन्टेना में इस्तेमाल किये जाते है |
  4. इलेक्ट्रिक फ्यूल पंप में, व्हील चेयर, कार्डलेस पॉवर टूल में इस्तेमाल की जाती है |
  5. इन मोटर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल खिलोनो में किया जाता है |
  6. इनका इस्तेमाल टूथब्रश, फ़ूड मिक्सर, आइस क्रेशेर, trimmer में|

FAQ related तो PMDC motor

  1. What is PMDC? (PMDC मोटर क्या है?)

    इसका फुल फॉर्म permanent magnet dc motor है, इसका मतलब इन मोटर में मैग्नेटिक फील्ड को बनाने के लिए स्थायी मैगनेट का इस्तेमाल किया जाता है |

  2. What is application of pmdc motor?(स्थायी चुम्बक डीसी मोटर का इस्तेमाल कहा पर किया जाता है?)

    12 v PMDC मोटर का इस्तेमाल गदियोमे हीटर में और एयर कंडीशनर ब्लोअर में इस्तेमाल किये जाते है|
    विंडशील्ड वाइपर, फैन, रेडियो अन्टेना में इस्तेमाल किये जाते है |
    इलेक्ट्रिक फ्यूल पंप में, व्हील चेयर, कार्डलेस पॉवर टूल में इस्तेमाल की जाती है |
    इन मोटर का सबसे ज्यादा इस्तेमाल खिलोनो में किया जाता है |
    इनका इस्तेमाल टूथब्रश, फ़ूड मिक्सर, आइस क्रेशेर, trimmer में

  3. What does PMDC stand for (PMDC का मतलब क्या है?)

    Permanent Magnet DC motor

  4. Advantages of permanent magnet dc motor (परमानेंट मैगनेट डीसी मोटर के फायदे)

    1.बोहोत ज्यादा कम रेटिंग की मोटर हो तब इसको बनाने का खर्चा बोहोत कम हो जाता है |
    2.इस मोटर का अकार भी छोटा होता है वौण्ड फील्ड dc motor के मुकाबले जबकि रेटिंग एक समान होती है |
    3.कम वोल्टेज मोटर कम एयर नोइस उत्पन्न करती है |
    4.इन मोटर की एफिशिएंसी वौण्ड फील्ड मोटर से ज्यादा होती है |
    5.कम वोल्टेज के लिए डिजाईन की गई मोटर TV और radio के लिए कम interference करती है |

यह भी पढ़े:-

Induction motor in Hindi

Fuse in Hindi

Transformer test in Hindi

Previous articleTransformer tests in Hindi | ट्रांसफार्मर टेस्टिंग
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here