LED क्या है | LED kya hai, कार्यप्रणाली, प्रकार, उपयोग, लाभ

0
58
Led in Hindi, all information in Hindi
LED IN HINDI

तो दोस्तों आज के LED क्या है ? (LED kya hai) एस आर्टिकल में हम LED के बारेमे सब जानकारी लेने वाले है, एल इ डी के प्रकार कितने होते है ? और यह किस तरह से काम करता है | एल इ डी के फायदे ला लाभ कोनसे है, इनका इस्तेमाल कहा पर किया जाता है इन सभी के बारेमे जानेंगे |

आज अगर देखा जाये तो LED का इस्तेमाल बोहोत सारी जगहों पर किया जाता है जैसे की खिलोनो से लेकर के बड़ी बड़ी मशीनो में, घर मे, इंडस्ट्रीज में, इंडिकेशन के लिए किया जाता है |

LED के बारेमे जानकारी ले रहे है तो पहले ये देखते है की LED का फुलफॉर्म क्या होता है ? LED मतलब Light Emitting Diode होता hai याने की इससे पहले जो लेख Diode in hindi लिखा था उस डायोड का यह एक प्रकार है| यह एक स्पेशल टाइप का PN जंक्शन डायोड है |

LED का इतिहास

LED का अविष्कार 1907 में ब्रिटिश व्यज्ञानिक H.J. Round ने Morconics Lab में किया था जब elecluminescence की खोज की खोज की गयी थी उसके बाद आगे जाके उसपर और रिसर्च हुई एक्स्पेरिमेट्स हुए बादमे 1961 में Garypittman और Robert Baird ने एक्स्पेरिमेट्स किये तो उन्हें पता चला की इसमे से इन्फ्रारेड रेडिएशन निकलता है|

उसके बाद उसपर आगे जाके और रिसर्च हुई उसमे Nick Holonyak jr थे उनहोंने 1962 में एक्सपेरिमेंट्स में पाया की उसमेसे रेड याने की लाल रंग की रोशनी बाहर निकल रही है, इसी लिए उनकोFather of Light Emmiting Diode भी कहा जाता hai

LED kya hai(LED In Hindi)

LED मतलब Light Emitting Diode होता है, याने की डायोड का प्रकार है | इनका इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जा रहा है और इसकी पॉपुलैरिटी बढती जा रही hai क्यू की इसमे कुछ खास गुण है जिसकी इनका आकार बोहोत छोटा होता hai साथी साथ यह बोहोत कम पॉवर का इस्तेमाल करती है|

इसमे semiconductor का इस्तेमाल किया जाता है जब इसके एनोड और कठोड़ को सप्लाई दी जाती है याने की वोल्टेज सप्लाई को जोड़ा जाता है तब इसमे से लाइट उत्पन्न हो जाती है|

LED का सिंबलऔर चित्र हम निचे देख सकते है|

LED in Hindi. Electricaldose
LED diode symbol

Google पर प्रश्न बोहोत सर्च किया जाता है की LED Meaning in Hindi तो इसका उत्तर होता hai LED मतलब Light Emitting Diode होता है|

यह भी पढ़े:- Fire extinguisher in Hindi

Working Principle of LED (एल इ डी का कार्य सिधांत)

यह एक semiconductor diode होता hai जिसमे से लाइट उत्पन्न होती hai | सेमी कंडक्टर और PN जंक्शन डायोड होता hai एक्टिवेट होने पर यह लाइट उत्पन्न करता hai| जब इस डायोड को स्थिर वोल्टेज सप्लाई दिया जाता है तब उसमे के स्थिर इलेक्ट्रॉन्स डिवाइस में स्तिर होल से कंबाइन हो जाते है|

इस प्रक्रिया की वजह से photon के रूप में उर्जा निकलती इस उर्जा को हम आँखों से लाइट के रूप में देख सकते है|

LED को बनाने के लिए या उसमे aluminum Gallium Arsenide का इस्तेमाल किया जाता है याने की (AIGaAs). जब ये ओरिजिनल स्टेट में होता hai तब इसके इसके एटम का bond बोहोत मजबूत होता है| यहाँ पर फ्री इलेक्ट्रॉन्स नहीं होते है इसकी वजह से इसमे से इलेक्ट्रिसिटी नहीं जा सकती है|

यहाँ पर एक जगह पर इम्पुरिटी को जोड़ा जा सकता hai या add किया जा सकता hai जिसको डोपिंग (doping) कहा जाता है| डोपिंग की प्रक्रिया में एक अधिक एटम को introduce किया जाता है जिसकी वजह से balance थोडा बिगड़ जाता है|

LED में देखा जाये तो N टाइप सेमी कंडक्टर में ज्यादा डोपिंग होती P टाइप सेमी कंडक्टर के मुकाबले , इन दोनों के बिच की बाधा टूट जाती है और यहाँ deplyation लेयर में electrons और hole कंबाइन हो जाते है| इस प्रक्रिया की वजह से photons या light सभी दिशा में निकल ने लगती है| निचे दिखाए चित्र में हम वह स्तिति देख सकते है|

Types of LED (LED के प्रकार )

  1. Through Hole LED (थ्रू होल एलईडी)
  2. SMD LED (Surface Mount Light Emitting Diode) (एसएमडी एलईडी)
  3. RGB LED (आरजीबी एलईडी)
  4. Bi-color LED (बीए कलर एलईडी)
  5. High Power LED (हाई पॉवर एलईडी)

1) Through Hole LED (थ्रू होल एलईडी):-

यह LED बोहोत सारी आकार और आक्रति में मिलते है जैसे की सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाले 3mm,5mm,8mm होते है| इनकी कीमत भी बोहोत कम होती hai और इनमे पॉवर भी बोहोत कम इस्तेमाल होती है| यह एलईडी बोहोत सारी कलर में भी उपलाभ्ध होती हैजैसे की Red, Yellow, Green,Blue. इन LED का चित्र हम निचे देख सकते है

2) SMD LED (Surface Mount Light Emitting Diode) (एसएमडी एलईडी):-

यह एक खास तरह की led होती है जैसे की नाम से ही पता चलरह hai की यह sarface याने की सतह पर लगाने वाली LED है जो की PCB के बोर्ड के ऊपर लगती है | इस के प्रकार इस led के आकार याने डायमेंशनपर निर्भर होते hai जिस आकार की LED चाहिए उस आकार की एलईडी मिलती है|

led in hindi 1 Electricaldose
Led in Hindi

3) RGB LED (आरजीबी एलईडी):-

ईस LED का इस्तेमाल बोहोत ज्यादा तौर पर किया जाता है और ये सबकी पसंदीदा है| इनका इस्तेमाल डेकोरेटिव लाइटिंग में बोहोत ज्यादा किया जाता hai साथी साथ इंडिकेशन में भी इस्तेमाल की जाती है|

4) Bi-color LED (बीए कलर एलईडी):-

RGB के साथ साथ Bi कलर LED भी बनती hai जिसमे 2 कलर होते है | इसमे तिन लीड होती है जिसमे 2 एनोडऔर एक कॉमन कैथोड होती है|जिस लाइट चाहिए उस हिसाब से लीड को एक्टिवेट करेंगे तो उसी कलर की लाइट दिखाई देगी|

led in hindi Electricaldose
Led in hindi

5) High Power LED (हाई पॉवर एलईडी):-

साधारण तौर पर अगर देखा जाये तो नार्मल led का watt कुछ मिली watt होता है, अगर किसी LED की पॉवर रेटिंग 1 watt या 1 watt ऊपर हो तब उन एलईडी को High Power LED कहा जाता है| इनमे पॉवर ज्यादा इस्तेमाल होतीहै उसके कारन इनकी ब्राइटनेस भी बोहोत ज्यादा होती है इसलिए इनका इस्तेमाल Flashlight में किया जाता है|

इनमे पॉवर ज्यादा इस्तेमाल की जाती hai उसके कारन वो ज्यादा गरम हो जाती है उनको ठंडा करने के लिए हीट सिंक का इस्तमाल किया जाता hai |

Advantages Of LED (एलईडी के फायदे):-

  1. LED को चलाने के लिए या लाइट उत्पन्न करने के लिए बोहोत कम पॉवर की जरुरत होती है|
  2. इनका आकार और आकृति भी छोटी होती है|
  3. इनमे वोल्टेज की रेंज 1 से 2 वोल्ट होती है और करंट 5 से 20 milliamperes होता है|
  4. इनको किसी प्रकार का वार्म उप टाइम की जरुरत नहीं होती है|
  5. यह बोहोत कम समय में ON हो जाती है लगभग 10 nanosecond में |
  6. इनकी बनावट बोहोत सरलोर बोहोत मजबूत होती hai उसके कारन यह ज्यादा समय तक टिकती है और इनपे वाइब्रेशन का ज्यादा असर नहीं होता है|

Disadvantages Of LED (एलईडी के नुकसान):-

  1. अगर high power Led का इस्तेमाल किया जाये तो वहा पर हीटिंग का प्रॉब्लम आ सकता hai उस स्थिति में हीट सिंक का इस्तेमाल करना पड़ता है|
  2. अगर इन LED को थोडा ज्यादा वोल्टेज दिया जाये तो हव आसानी से ख़राब हो सकती है|
  3. बोहोत ज्यादा बड़े एरिया में को lightningकरने के लिए इनका इस्तेमाल नही किया जा सकता है|
  4. इनकी कीमत भी थोड़ी ज्यादा होती है|
  5. LED को चालू करने के लिए बाहरी सर्किट की जरुरत पड़ती है|

Application Of LED (एलईडी के उपयोग):-

  1. पैनल में ब्लिंकर की तरह या इंडिकेटर कि तरह इस्तेमाल किया जाता है|
  2. रिमोट कण्ट्रोल में इनका इस्तेमाल किया जाता है|
  3. Indicator Light की तरह इस्तेमाल किया जाता है |
  4. डिजिटल घडी, सेलफोन में |
  5. ट्राफिक सिग्नल में |
  6. कैमरा फ़्लैश में |

FAQ Related to LED ( एलईडी से जुड़े प्रश्न उत्तर):-

  1. LED kya hai ? इसका इस्तेमाल कहा पर किया जाता है?

    यह एक डायोड है जिसको अगर कांस्टेंट वोल्टेज सप्लाई हो दिया जाये तो उसमे से रेडिएशन उत्पन्न होता है और उसकी वजह से लाइट उत्पन्न होती है,इनका इस्तेमाल Indicator Light की तरह इस्तेमाल किया जाता है | डिजिटल घडी, सेलफोन में | ट्राफिक सिग्नल में | कैमरा फ़्लैश में किया जाता है|

  2. LED meaning in hindi (LED का मतलब क्या है)

    LED मतलब Light Emitting Diode

  3. LED कितने प्रकार के होते है?

    Through Hole LED (थ्रू होल एलईडी)
    SMD LED (Surface Mount Light Emitting Diode) (एसएमडी एलईडी)
    RGB LED (आरजीबी एलईडी)
    Bi-color LED (बीए कलर एलईडी)
    High Power LED (हाई पॉवर एलईडी)

  4. CFL और LED में क्या अंतर है?

    LED में CFL के मुकाबले बोहोत कम बिजली की खपत करता है| LED लाइट का जीवन काल याने की काम करते रहने का समय भी ज्यादा होता hai |

  5. एलईडी में कितने टर्मिनल होते है?

    LED में 2 टर्मिनल होते है|

  6. एलईडी का फुल फॉर्म क्या है ?

    LED का फुल फॉर्म होता hai Light Emitting Diode होता है|

  7. 20W एलईडी किसके बराबर है?

    एक अच्छी 20W LED 200watt halogen के बराबर होती है |

  8. 10W एलईडी किसके बराबर है?

    60W की जगह पर 10W के बल्ब का इस्तेमाल कर सकते है |

  9. एक एलईडी कितने साल तक चलती है ?

    40,000 से 60,000 घंटा

Also Read

तो दोस्तों LED in Hindi ये पोस्ट आपको कैसा लगा? अगर पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर share करना

धन्यवाद|

Previous articleDiode In Hindi | डायोड क्या है, कार्य सिद्धांत, प्रकार, उपयोग.
Next articlePLC kya hai? परिभाषा, कार्य, प्रकार तथा उपयोग
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here