Hydro power plant in Hindi | हाइड्रो पावर क्या है?

0
424

तो दोस्तों आज के hydro power plant in hindi इस आर्टिकल में हम हाइड्रो पावर क्या है?, इस इलेक्ट्रिकल उर्जा को किस तरह निर्माण किया जाता है साथी साथ इसके फायदे नुकसान भी देखेंगे | इस पावर प्लांट के लिए किस तरह के जगह की जरुरत होती है, और कोनसे उपकरण इस्तेमाल किये जाते है ये भी जानेंगे |

Hydro power plant in Hindi
Hydro power plant in Hindi

Table of Contents

Hydro power plant in Hindi ( हाइड्रो पावर प्लांट ):-

हाइड्रो पावर प्लांट में पानी याने की water में के potential energy याने की स्थितिज उर्जा को हाइड्रोलिक टरबाइन के ऊपर छोड़ा जाता है यह टरबाइन आगे electric generator से जुड़े होते है उन्ही की मदद से इलेक्ट्रिकल उर्जा प्राप्त होती है |

इस पूरी प्रक्रिया के लिए बोहोत सारे पानी की जरुरत होती है इसलिए इस power plant का निर्माण उसी जगह पर किया जाता है जहा पर बड़े तैमाने पर पानी उपलब्ध हो, ताकि उस क्षेत्र के लोड को संभाल सके |

भारत में पहला हाइड्रो पावर प्लांट Darjeeling में 1897 में बनाया गया था जो की 200kW क्षमता का था जिसका नाम Sidrapong Hydal power station है | उसके बाद प्रमुख या बड़ा power plant 1902 में बनाया जाया था को की 4.5 MW क्षमता का था जो की mysore में है |

आज अगर देखा जाये तो भारत में 12% इलेक्ट्रिकल एनर्जी हाइड्रो पावर प्लांट की मदद से उत्पन्न की जाती है | और दुनिया भर में देखे तो ये आकडा लगभग 16% है |

Classification of hydro power plant (हाइड्रो पावर प्लांट वर्गीकरण):-

1) Based on availability of head (पानी के ऊँचाई के आधार पर):-

  • Low head plants ( कम ऊँचाई)
  • medium head plants (माध्यम ऊँचाई)
  • High head plants (ज्यादा ऊँचाई)

2) Based on nature of load (लोड के आधार पर):-

  • Base load plants (बेस लोड)
  • Peak load plants (पीक लोड)

3)Based on quantity of water (पानी की उपलब्धता पर आधारित):-

  • Run-off river plant with pondage
  • Run-off river plant without pondage
  • Storage type plants
  • Pumped storage peak loadplants
  • Mini and micro hydro plants

यह भी पढ़े :- Megger in hindi

Hydro power plant operation (हाइड्रो पावर प्लांट कार्य प्रणाली ):-

इस पावर प्लांट में पानी में के स्थितिज उर्जा का इस्तेमाल किया जाता है इसके लिए पानी को hydraulic turbine घुमाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है | यह टरबाइन आगे electric generator को चलाते है वो मैकेनिकल उर्जा को इलेक्ट्रिकल उर्जा में बदल देते है |

बारिश का पानी जब जमीं पर गिरता है तब उसमे स्थितिज उर्जा होती है | Hydro power plant में इस्तेमाल करने के लिए इस पानी को एक जगह रोक के रखा जाता है इसके लिए डैम का निर्माण किया जाता है |

इस रोके गए पानी को फिर तेजीसे टरबाइन के ऊपर छोड़ा जाता है ताकि वह घूम सके और उसी की मदद से आगे फिर इलेक्टिकल एनर्जी का निर्माण किया जाता है |

पावर प्लांट से कितनी उर्जा उत्पन्न होगी यह पानी की मात्रा और पानी कितनी ऊँचाई पर है इसके ऊपर निर्भर होता है |

hydraulic turbine से कितनी पावर मिल सकती है इसके लिए एक equation की मदद ली जाती है |

Hydro power plant in Hindi
Hydro power plant in Hindi

पानी कितनी मात्रा में उपलब्ध वह बारिश के ऊपर और पानी दूसरी जगह से बाहर जा रहा है इसपर भी निर्भर करता है |

Selection site for hydro power plant (हाइड्रो पावर प्लांट जगह का चयन):-

एक अच्छे जगह के चयन के लिए जाँच पड़ताल की जाती है ताकि डैम बनाया जा सके | एक अच्छे जगह से के लिए बोहोत बड़े जगह की जरुरत होती है साथी साथ उस क्षेत्र में अच्छी खासी बारिश हो और जगह ऊँचाई पर हो |

निचे कुछ अंक दिए गए है जिनकी मदद से जगह का चयन किया जाता है |

  1. पानी की मात्रा ज्यादा हो और उसको स्टोर करने के लिए पर्याप्त जगह हो |
  2. जगह थोड़ी ऊँचाई की तरफ हो और पानी को अच्छे से संग्रह किया जा सके |
  3. पावर डिमांड से पावर स्टेशन का अंतर |
  4. प्लांट बनाने के लिए लगने वाले सामग्री की उपलब्धता |
  5. जगह इतनी दूर हो की वहा पर कामगार और दूसरा समान आसानी से पहुचाया जा सके |
  6. परिवहन सुविधा हो |
  7. पूंजी लागत और बनाने के समय
  8. भूकंप क्षेत्र ना हो |
  9. तलछट संग्रह कम से कम हो |

Construction of hydro power plant in hindi (हाइड्रो पावर प्लांट की बनावट):-

जब बारिश होती है तब बोहोत ज्यादा तैमाने पर पानी को reservoir में जमा किया जाता है जो की डैम के पीछे होता है| अगर किसी साल कम बारिश होती है तब वह प्लांट बिजली की अधिकतम मांग को पूरा नहीं कर पाता है |

इस कारन की वजह से अभी जो नए power plant बन रहे है वह hydropower plant और steam याने thermal power plant एक साथ जुड़े होते है | याने की interconnected power system

निचे दिखाए चित्रमे हम hydro power plant के ढांचे के चित्र को देख सकते है |

Hydro power plant in Hindi
Hydro power plant in Hindi

हाइड्रोपावर प्लांट के मख्य हिस्सों को निचे विस्तार में समझाया गया है |

1) Reservoir (जलाशय):-

जब बारिश होती है तब पानी को जमा करने के लिए reservoir का इस्तेमाल किया जाता है क्यू की सूखे के काल में पानी का कोई और जरिया नहीं होता है | इसी जलाशय मेके पानी को hydraulic turbine को घुमाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है |

2) Dam (बांध):-

नदी में बिच में बांध का निर्माण किया जाता है ताकि पानी एकठा किया जा सके इसका मजबूत होना जरुरी होता है क्यू की इसी की मदद से जरुररत जितने पानी को रोका जाता है |

Types of dams (बांध के प्रकार):-

A) Fill dams :-

a) Earth dam b) Back-fill dams

B) Masonary dams :-

a) Gravity dams b) buttress dam c) Arch dam

3) Trash rack (कचरा रैक):-

इसके निर्माण के लिए steel bars का इस्तेमाल किया जाता है, इसके निर्माण की वजह से कोई कचरा intakes में नहीं जा पाता है | अगर पाइप किसी तरह का कचरा जाये तो उसकी वजह से टरबाइन को नुकसान पहुच सकता है और nozzles बंद हो सकते है |

4) Gate (गेट):-

Gate की मदद से पानी के बहाव को नियंत्रित किया जाता है | अगर कोई मेंटेनेंस करवाना हो तब इस गेट को बंद किया जाता है |

5) Surge tank (सर्ज टैंक):-

अगर टरबाइन के ऊपर एकदम से load कम हो जाये तब गेट को बोहोत जल्दी से बंद किया जाता है उसकी वजह से पानी का बहाव कम हो जाता है उसकी वजह से penstock के ऊपर pressure बढ़ जाता है इस pressure को water hammer भी कहा जाता है |

सर्ज टैंक की मदद से penstock में के velocity और pressure को कम करता है उसकी वजह से water hammer effect कम हो जाता है |

6) Penstock (जलद्वार):-

penstock का इस्तेमाल पानी को डैम से पावर हाउस तक लेजाने के लिए किया जाता है | Penstocks steel से बने होते है और उनके ऊपर कंक्रीट से आवरण बनाया जाता है ताकि वह ज्यादा pressure को भी संभाल सके | penstock को सहारा देने के लिए anchors का इस्तेमाल किया जाता है |

7) Spillway (स्पिलवे):-

अगर डैम में पानी अधिक ताम क्षमता के ऊपर चला जाये तो उस पानी को निकलने के लिए spillways का इस्तेमाल किया जाता है | जब बाढ़ आती है तब इसका इस्तेमाल किया जाता है |

Types of Spillway (स्पिलवे के प्रकार):-

  • Soild gravity or overall spill way
  • Chute और trough spillway
  • Solid channel spillway
  • Saddle spillway
  • Shaft spillway
  • Siphon spillway

8) Powerhouse (बिजली घर):-

इसी में सभी hydraulic और electric यंत्र होते है और यही पर पानी में उर्जा को इलेक्ट्रिकल उर्जा में बदला जाता है | बिजली घर को ज्यादा तर जमींन के निचे बनाया जाता है |

9) Hydraulic turbine (हाइड्रोलिक टरबाइन):-

टरबाइन की मदद से पानी में के स्थितिज उर्जा को मैकेनिकल उर्जा में बदला जाता है |

Also read :- Relay in hindi

Types of dams (बांध के प्रकार):-

1) Fill dams :-

a) Earth dam b) Back-fill dams

2) Masonary dams :-

a) Gravity dams b) buttress dam c) Arch dam

Site selection for dam (डैम के जगह का चयन):-

  1. डैम नदी के निचले भाग में हो |
  2. मिट्टी की असर क्षमता ज्यादा हो (soil bearing capacity)
  3. इसके निर्माण का मूल्य कम हो |
  4. निर्माण में लगाने वाली सामग्री निर्माण कार्य से नजदीक हो |
  5. निर्माण कार्य तक जाने के लिए ट्रांसपोर्ट ओए कम्युनिकेशन की सुविधा हो |
  6. भूकंप क्षेत्र से दूर हो|
  7. आसपास के लोगो को कम से कम परेशानी हो |
  8. पर्यावरण को कम से कम नुकसान पहुचे |

Preventive maintenance of hydro power plant in Hindi (हाइड्रो पावर प्लांट निवारक रखरखाव):-

  1. Monthly maintenance (मासिक रखरखाव):- लीकेज को चेक करना, servo motor कनेक्शन जांचना, lubrication, टरबाइन शाफ़्ट, आयल पंप, और कुछ जरुरी रिपेयर |
  2. Quarterly maintenance (त्रैमासिक रखरखाव):- गवर्नर हाइड्रोलिक आयल सिस्टम जाँच,servo moto, generator, कुछ कनेक्शन की जाँच |
  3. Half year maintenace ( आधे साल में रखरखाव):- गवर्नर जनरेटर का रखरखाव, कुछ यंत्र चल रहे है क्या इसकी जाँच, पंप,बेअरिंग में ग्रीसिंग करना |
  4. Yearly maintenace (साल में रखरखाव):- रनर ब्लेड में क्रैक को चेक करना, ड्राफ्ट ट्यूब में क्रैक को जांचना और रिपेयर करना, transformer, penstock और दुसरे चीजो को जांचना |

Hydro power plants in India (भारत में के हाइड्रो पावर प्लांट्स):-

Sr. no.राज्य पावर प्लांट का नाम
1.Andra pradesha) Nagarjun sagar
b) Mackand
c) Srisilam
d) Lower silem
e) Upper silem
2.AssamUmism
3.GujratUkai
4.Himachal PradeshBaira suil
5.Jammu and KashmirSalal
6.Karnatakaa) Kailindi
b) Sharavati
c) Tungabhadra
7.Keralaa) Idikki
b) Parambikulam
c) Sabarigiri
8.Maharashtrakoyana
9.ManipurLoktak
10.OrissaBalimela
11.PunjabBhakra Nangal
12.RajasthanChambal

Advantages of Hydro power plant in hindi (हाइड्रो पावर प्लांट के फायदे):-

  1. इस पावर प्लांट को बनाने का खर्चा बोहोत ज्यादा होता है लेकिन इसके ऑपरेशन का खर्चा दुसरे पावर प्लांट के मुकाबले बोहोत कम होता है |
  2. यह प्लांट ज्यादा विश्वसनीय होते है |
  3. इनका इस्तेमाल बेस लोड और पीक लोड के लिए भी किया जा सकता है |
  4. Steam power plant और nuclear power plant के मुकाबले इसको चालू करने का और रोकने को बोहोत कम समय लगता है |
  5. इस पावर प्लांट में राख को ठिकाने लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है |
  6. इसका जीवन काल बोहोत लम्बा होता है लगभग 50 साल |
  7. इसकी कार्य क्षमता बोहोत ज्यादा होती है |
  8. इसके supervision के लिए कम लोगो की जरुरत होती है |
  9. इसमे किसी तरह के इंधन की जरुरत नहीं होती है |

Disadvanage of hydro power plant (हाइड्रो पावर प्लांट के नुकसान):-

  1. इसमे कितनी इलेक्ट्रिकल उर्जा उत्पन्न होगी यह कितना पानी उपलब्ध है इसपर निर्भर होता है |
  2. यह प्लांट किसी लोड सेंटर से बोहोत दूर होते है इसके कारन इसके ट्रांसमिशन और डिस्ट्रीबुसन के लिए अधिक सामग्री लगती है इसकी वजह से इसका मूल्य बढ़ता है |
  3. इस प्लांट को डिजाईन करने केलिए और बनाने के लिए बोहोत ज्यादा समय लगता है |
  4. इसकी पूंजी लागत बोहोत ज्यादा होती है |
  5. इस प्लांट के निर्माण से अजुबजू के इकोलॉजी पर असर पड़ता है |

FAQ related to hydro power plant in Hindi :-

  1. हाइड्रो पावर प्लांट के फायदे कोनसे है?( What are advantages of hydropower plant)

    1)इस पावर प्लांट को बनाने का खर्चा बोहोत ज्यादा होता है लेकिन इसके ऑपरेशन का खर्चा दुसरे पावर प्लांट के मुकाबले बोहोत कम होता है |
    2) यह प्लांट ज्यादा विश्वसनीय होते है |
    3) इनका इस्तेमाल बेस लोड और पीक लोड के लिए भी किया जा सकता है |
    4) Steam power plant और nuclear power plant के मुकाबले इसको चालू करने का और रोकने को बोहोत कम समय लगता है |
    5) इस पावर प्लांट में राख को ठिकाने लगाने की जरुरत नहीं पड़ती है |
    6) इसका जीवन काल बोहोत लम्बा होता है लगभग 50 साल |
    7) इसकी कार्य क्षमता बोहोत ज्यादा होती है |
    8) इसके supervision के लिए कम लोगो की जरुरत होती है |
    9) इसमे किसी तरह के इंधन की जरुरत नहीं होती है |

  2. हाइड्रो पावर प्लांट के प्रकार (types of hydropower plant)

    1) Based on availability of head (पानी के ऊँचाई के आधार पर):-
    a) Low head plants ( कम ऊँचाई)
    b) medium head plants (माध्यम ऊँचाई)
    c) High head plants (ज्यादा ऊँचाई)
    2) Based on nature of load (लोड के आधार पर):-
    a) Base load plants (बेस लोड)
    b) Peak load plants (पीक लोड)
    3) Based on quantity of water (पानी की उपलब्धता पर आधारित):-
    a) Run-off river plant with pondage
    b) Run-off river plant without pondage
    c) Storage type plants
    d) Pumped storage peak load plants
    e) Mini and micro-hydro plants

  3. भारत का सबसे पहला हाइड्रोपावर प्लांट कोनसा है?( Which is first hydropower plant in india?)

    भारत में पहला हाइड्रो पावर प्लांट Darjeeling में 1897 में बनाया गया था जो की 200kW क्षमता का था जिसका नाम Sidrapong Hydal power station है |

  4. हाइड्रोपावरप्लांट में क्या होता है? (What happened in hydropower plant?)

    इस पावर प्लांट में पानी में के स्थितिज उर्जा का इस्तेमाल किया जाता है इसके लिए पानी को hydraulic turbine घुमाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है | यह टरबाइन आगे electric generator को चलाते है वो मैकेनिकल उर्जा को इलेक्ट्रिकल उर्जा में बदल देते है |

  5. हाइड्रो पावर प्लांट गह का चयन कैसे किया जाता है?( Selection site for hydro power plant)

    1. पानी की मात्रा ज्यादा हो और उसको स्टोर करने के लिए पर्याप्त जगह हो |
    2. जगह थोड़ी ऊँचाई की तरफ हो और पानी को अच्छे से संग्रह किया जा सके |
    3. पावर डिमांड से पावर स्टेशन का अंतर |
    4. प्लांट बनाने के लिए लगने वाले सामग्री की उपलब्धता |
    5. जगह इतनी दूर हो की वहा पर कामगार और दूसरा समान आसानी से पहुचाया जा सके |
    6. परिवहन सुविधा हो |
    7. पूंजी लागत और बनाने के समय
    8. भूकंप क्षेत्र ना हो |
    9. तलछट संग्रह कम से कम हो |

  6. भारत का सबसे बड़ा हाइड्रोपावर प्लांट कोनसा है?

    कोयना हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रकल्प |

  7. दुनिया का सबसे बड़ा हाइड्रो इलेक्ट्रिक power प्लांट कोनसा है?( which is worlds biggesthydro power plant)

    China का Three gorges dam जो की yangtze नदी पर बना है

यह भी पढ़े :-

Power factor in Hindi

Buchholz relay क्या है?

DC motor in Hindi

DOL starter क्या है?

Error in measurement in hindi

Biogas power plant in hindi

तो दोस्तों आज हमने Hydro power plant in Hindi इस आर्टिकल में हाइड्रो पावर प्लांट के बारेमे जाना | साथी साथ इससे होने वाले फायदे और,उपयोग के बारेमे भी जाना। अगर यह आर्टिकल या लेख आपको अच्छा लगा हो तो अपने दोस्तों के साथ facebook पर जरूर शेयर करना और इस लेख को पढ़कर आपको कैसा लगा वो कमेंट बॉक्स में जरूर लिखना कुछ सुझाव हो  तो भी कमेंट में जरूर लिखना।     

धन्यवाद। 

Previous articleइलेक्ट्रिकल बेसिक प्रश्न उत्तर | Basic Electrical question and answer
Next articleFuel cell in Hindi | इंधन सेल क्या है, लाभ, कार्य, उपयोग
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here