Refrigeration cycle in Hindi

0
1682
आज के Refrigeration cycle in hindi इस आर्टिकल में प्रशीतन क्या होता है? इसके बारेमे जानने वाले है। इसका इस्तेमाल कहा पर किस तरह से किया जाता है और इसके फायदे साथी साथ कुछ नुकसान भी देखने वाले है।
 
आज अगर देखे तो प्रशीतन याने की रेफ्रिजरेशन का इस्तेमाल बोहोत ज्यादा किया जाता है। जैसे की घरो में, हॉस्पिटल,स्कूल,कॉलेज, डिपार्टमें स्टोर, restaurent, में खाने को लम्बे समय तक रखने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।  इसका इस्तेमाल मेडिकल क्षेत्र में भी किया जाता है। तो आज के इस आर्टिकल में हम उसी के बारेमे जानने वाले है।
 

Refrigeration cycle in Hindi(प्रशीतन चक्र क्या है?):-

रेफ्रिजरेशन एक बोहोत ही महत्व पूर्ण है और अब मानव जात के लिए ज़रूरत बन चुकी है क्यू की इसका इस्तेमाल हर क्षेत्र में किया जाता है जैसे की घरो में, स्कूल, departmental store में,railways में ऐसी लगभग हर जगह refrigenartion जा इस्तेमाल होता है।

जब इसकी नयी नयी खोज की गयी थी तब यह एक विलासिता याने luxury की तरह इस्तेमाल किया जाता था।  Artificial Refrigeration की जानकारी 1755 में Wiiliam Cullen ने लोगो के सामने पेश की थी उन्होनो छोटी रेफ्रिजरेशन मशीन बनायीं थी।  आगे जेक 1805 में Oliver evans ने Vapour compression cycle की खोज की थी।

प्रशीतन याने की refrigeration का इस्तेमाल करके किसी बंद जगह के तापमान को कम याने की ठंडा किया जा सकता है याने की उस बंद जगह से रखे किसी चीज का तापमान कम किया जा सकता है और एक स्थिर तापमान पर बनाये रखा जा सकता है।

इस खूबी के कारन अब रेफ्रिजरेशन के इस्तेमाल से खाने के बोहोत बड़े भंडार बनाये जाते है ताकि खाने को लम्बे समय तक रखा जा सके और एक जगह से दुसरे जगह भेजा जा सके।

इस पोस्ट में हम रेफ्रिजरेशन के बारेमे सब जानकरी जैसे की प्रशीतन चक्र किस तरह से काम करता है, इसका इस्तेमाल कहा पर किस तरह से किया जाता है, इसके फायदे नुकसान भी जानेंगे।

Important terms used in Refrigeration:-

1.Refrigeration (रेफ्रिजरेशन):-

रेफ्रिजरेशन को हम इस तरह से समझ सकते है की यह एक प्रक्रिया है जिसकी मदद से किसी बंद जगह में से heat को निकाला जाता है।  इसमे किसी बंद जगह के तापमान को बदलने के लिए या फिर तामपान एक समान रखने के लिए किया जाता है।

आसान भाषा में कहे तो इसका मतलब होता है की किसी बंद जगह के तापमान को जो की बाहरी तापमान से कम हो उस जगह में से लगातार heat को बाहर निकाला जाता रहे।

2. Refrigeration System (रेफ्रिजरेशन सिस्टम) :-

जिस कार्य विधि या रचना का इस्तेमाल करके किसी जगह का तापमान कम किया जाता है, जिसका तापमान आजूबाजू के तापमान से कम हो इसी रचना को रेफ्रिजरेशन सिस्टम कहा जाता है। यहाँ पर heat को आम तौर पर कम लेवल से ज्यादा लेवल पर पंप किया जाता है।

3. Refrigerant (रेफ्रीजेरट):-

रेफ्रिजरेंट एक heat याने की गर्मी को एक जगह से दूसरे जगह पर ले जाने वाला माध्यम होता है। रेफ्रिजरेशन सिस्टम में कम तापमान हसे heat को निकाल कर  याने कोल्ड बॉडी से ज्यादा तामपान वाले सिस्टम में भेज देता है।

Refrigeration Cycle ( रेफ्रिजरेशन साइकिल ):-

अगर किसी बंद जगह के तामपान को आस – पास के तापमान से कम करना हो और उस कम हुए तापमान को एक जैसा बनाये रखने के लिए लगातार बंद जगह में से तापमान को बाहर निकलना पड़ता है।

जैसे की हमने ऊपर देखा की किसी बंद जगह के तापमान को कम करने के लिए जिस प्रक्रिया का इस्तेमाल किया जाता है उस प्रक्रिया को रेफ्रिजरेशन सिस्टम कहा जाता है।

गर्मी या हीटको कम लेवल से ज्यादा लेवल पर निकालने के लिए बाहरी काम की सहायता ली जाती है जो की thermodynamic का दूसरा नियम है। इसमे दो गर्मी को बाहर निकालने के लिए दो हिस्सों का इस्तेमाल किया जाता है, जिसके पहले हिस्से में किसी बंद जगह से गर्मी को निकाला जाता है और दुसरे हिस्से में उसगर्मी को mechanical work के जरिये बाहर छोड़ा जाता है। 

Refrigeration cycle का चित्र हम निचे देख सकते है। इस रेफ्रिजरेशन साइकिल में evaporation,   compression, condensation, और expansion होता है। 

Refrigeration cycle in Hindi
Refrigeration cycle in Hindi

Refrigeration cycle important parts (रेफ्रिजरेशन साइकिल के मुख्य हिस्से):-

1.Compressor(कंप्रेसर):-

पुरे रेफ्रिजरेशन साइकिल का कंप्रेसर एक बोहोत ही ज्यादा महत्व पूर्ण हिस्सा या पुर्जा होता है, इसी पुर्जे की वजह से पूरा सिस्टम अच्छे से चलता है। इसलिए इसे पुरे साइकिल का heart भी कहा जाता है। यह एक ऐसा यंत्र है जिसकी मदद से refrigerant को कॉम्प्रेस करता है, और पुरे साइकिल में refrigerant  के बहाव को चालू रखता है। 

जैसे की ऊपर दिखाए चित्र में देख सकते है की कंप्रेसर में दो लाइन होती है जिसमे एक लाइन से कम दबाव और कम तापमान पर वेपर अन्दर आती है इसके बाद कंप्रेसर उसमे उच्च दबाव निर्माण करता है और दुसरे लाइन से उसे बाहर भेज देता है। 

2. Condensor(कंडेंसर):-

रेफ्रिजरेंट ज्यादा तापमान और ज्यादा प्रेशर पर कंडेंसर में आता है, condensor में भाप को तरल अवस्था में बदला जाता है। 

3. Expansion valve(एक्सपेंशन वाल्व):-

 एक्सपेंशन वाल्व में एक छोटासा नोज़ल या छेद होता है उसमे में से refrigerant  ज्यादा प्रेशरऔर तापमान पर निकलता है इसकी वजह से रेफ्रिजरेंटका तापमान कम हो जाता है। इसके बाद कम दबाव और कम तापमान का refrigerant आगे बढ़ता है। 

4. Evaporator(ईवापोरेटर):-

Evaporator में गर्मी को अपने अन्दर ले लेता है और साथी साथ रेफ्रिजरेंट को भाप बना देता है। इसे cooling unit भी कहा जाता है। ईवापोरेटर में तापमान बाहरी तापमान से कम हो जाता है, उसकी वजह से बंद जगह के गर्मी को वह अपने अन्दर ले लेता है। 

Types of Refrigeration system (रेफ्रिजरेशन सिस्टम के प्रकार):-

 Refrigeration system के तिन प्रकार है। 

  1. Vapour compression refrigeration system
  2. Vapour absorption refrigeration system
  3. Thermoelectric refrigeration system

Application of refrigeration system (रेफ्रिजरेशन सिस्टम के उपयोग):-

  1. खाने को प्रोसेसिंग और priservation याने लम्बे समय तक खाने को रखने के लिए। 
  2. केमिकल प्रोसेसिंग इंडस्ट्रीज में। 
  3. Air conditining में। 
  4. Ice  plants
  5. हॉस्पिटल, लैबोरेटरी में। 
  6. डैरी फर्म्स में इस्तेमाल किया जाता है। 

Advantages of refrigeration system (रेफ्रिजरेशन सिस्टम के फायदे):-

  1. Air refrigeration का सबसे बड़ा फायदा ये है की इसका वर्किंग substance वातावरण में उपलब्ध होता है। 
  2. रेफ्रिजरेंट याने की air के इस्तेमाल के लिए किसी मूल्य की जरुरत नहीं होती है। 
  3. अगर किसी तरह का रिसाव होता है तो उसकी वजह से आग लगाने का खतरा नहीं होता है। 
  4. इसमे कुलिंग की प्रक्रिया लगातार चलती रहती है उसके कारन जीवाणु का विकास नहीं हो पता है और वो मर जाते है। 
  5. इस प्रकिया से किसी तरह का जहरीला पदार्थ नहीं निकलता है। 
  6. रेफ्रिजरेशन सिस्टम को हम अपनी मर्जी की हिसाब से बदलाव कर सकते है। 
  7. इसका मूल्य कम होता है। 

Disadvantages of refrigeration system (रेफ्रिजरेशन सिस्टम के नुकसान):-

  1. इसका रनिंग कॉस्ट याने की इस सिस्टम को चलने के खर्चा ज्यदाहोता है क्यू की इसका C.O.P याने coefficient  of performance कम होता है। 
  2. एक टन के रेफ्रिजरेशन के लिए दुसरे सिस्टम की तुलना में ज्यादा ा इस्तेमाल रेफ्रिजरेंटककरना पड़ता है। 
  3. वातावरण में मौजूद नमी के कारन वाल्व पर फ्रोस्तिंग बन जाती है। 

यह भी पढ़े :-

CNC machine in hindi

Power factor in hindi

Previous articleElectroplating in hindi | इलेक्ट्रोप्लेटिंग क्या है? प्रक्रिया, उपयोग, नुकसान
Next articlePower factor in Hindi|पावर फैक्टर क्या है?
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here