Air circuit breaker in Hindi | ACB रचना, कार्य सिद्धांत और उपयोग

0
484

Air circuit breaker in Hindi इस आर्टिकल में हम आज उसकी रचना, कार्य सिद्धांत और उसका इस्तेमाल कहा  किया जाता है उसके बारेमे जानेंगे | एयर सर्किट ब्रेकर के प्रकार  कितने है ये भी जानेंगे |

 Air circuit breaker in Hindi (एयर सर्किट ब्रेकर क्या है?) :-

जैसे की हमें नाम से ही पता चल रहा है की इसमें हवा का महत्त्व बोहोत ज्यादा है | इस circuit breaker को Air blast circuit breaker in hindi भी कहा जाता है क्यू की जब यह सर्किट ब्रेकर ऑपरेट  होता है तो एक हवा का विस्फोट होता है |

इसमें बोहोत ही उच्च दबाव याने high pressure पर हवा होती है, इस हवा का इस्तेमाल arc याने लपट को बुझाने में होता है| इसके contacts air blast की वजह से खुलते है, यह सब blast valve के खुलने की वजह से होता है |

air blast arc को ठंडा करता है और जो arcing product को वातावरण में छोड़ देता है | इसकी वजह से हवा की dielectric strength बढ़ जाती है और उसकी वजह से दुबारा arc के  बनने का खतरा टल जाता है | इस तरह से arc बुझ जाती है current आगे नहीं जा पाता है |

Air circuit breaker को ABC भी कहा जाता है, इलेक्ट्रिकल फुल फॉर्म्स के बारेमे जानने के लिए ये पोस्ट पढ़े electrical full forms 

Air circuit breaker construction in Hindi (एयर सर्किट ब्रेकर रचना) :- ACB construction 

इस सर्किट ब्रेकर में moving contacts और fixed contacts याने की हिलने वाले कॉन्टेक्ट्स और स्थिर कॉन्टेक्ट्स होते है | और Air reservoir होता है उसमे high pressure याने उच्च दबाव पर हवा भरी होती है|

 arching chember में arc उत्पन्न होती है और high प्रेशर हवा की मदद से arc बुझ जाती है | Air reservoir और arching chamner के बिच में Air valve जुड़ा होता है ताकि valve खुलने के बाद बोहोत तेजी से हवा arc को बहार ले जा सके | 

circuit breaker के बोहोत सारेप्रकार प्रकार है जैसे की oil circuit breaker, SF6 circuit breaker, और Vacuum circuit breaker 

Types of Air circuit breaker in Hindi (एयर सर्किट ब्रेकर के प्रकार):-

Air blast किस तरफ हो रहा है उसकी आधार पर देखा जाये तो एयर सर्किट ब्रेकर के तीन प्रकार है जो की निचे दिखाए गए है | 

  1.  Axial-blast air circuit breaker 
  2. Cross blast air circuit breaker 
  3. Radial blast air circuit breaker 

1) Axial-Blast air circuit breaker(अक्षीय-विस्फोट वायु सर्किट ब्रेकर):-

निचे दिखाए चित्र में हम Axial blast air circuit breaker की बनावट को देख सकते है | उसमे महत्त्व पूर्ण पुर्जे कहा पर होते है वो अच्छे से देख सकते है | जो fixed और moving contacts  होते है वो साधारण स्थिति   में एक स्प्रिंग प्रेशर की मदद एक दूसरे से करीब होते है | 

Air circuit breaker basic diagram
Air circuit breaker in Hindi

Air reservoir arching chember  जुड़ा होता है उनके बिच में Air valve जुड़ा होता है | यह वाल्व साधारण स्थिति में बंद होता है लेकिन सिस्टम में fault उत्पन्न होते ही automatically ओपन हो जाता है |

जब फाल्ट होता है तब tripping impulse की वजह से air valve खुल जाता है, उसकी वजह से high pressure हवा arching chamber जाती है उसकी प्रेशर की वजह से closing spring के विपरीत moving कांटेक्ट जाता है | इसकी वजह से moving contact अलग हो जाता है वहा  पर arc उत्पन्न हो जाती है |

उसी समय बोहोत ज्यादा प्रेशर से हवा चैम्बर में आ जाती है और arc को बहार ले जाती है उसी के gases को भी बाहर ले ले जाती है | इसकी वजह से arc बुझ जाती है और current का बहना बंद हो जाता है |

2) Cross blast air circuit breaker (क्रॉस ब्लास्ट एयर सर्किट ब्रेकर) :-

इस टाइप के circuit breaker में एयर का ब्लास्ट  होता वह arc के साइड से होता है 90 डिग्री के कोण पर, इसमें अर्च को एक ढलान पर ढकेला जाता है | जब moving contact अलग हो जाता है तब arc moving contact और fixed contact के बिच में फस जाती है |

Air circuit breaker in Hindi
Air circuit breaker in Hindi

उसके बाद high pressure हवा arc को arc splitters में ढकेल देती है, arc splitters में arc की लम्बाई बढ़ती जाती है क्यू की उसे उसी तरह से बनाया जाता है | जैसे जैसे arc आगे बढ़ती जाती है arc splitters की  वजह से उसकी ताकत कम हो जाती है |

उसकी वजह से arc बुझ जाती है और करंट बहना बंद हो जाता है |

Air circuit breaker in Hindi
Air circuit breaker in Hindi

Advantages of Air circuit breaker in hindi (एयर सर्किट ब्रेकर के फायदे ) :-

  1. इसमें आग लगने खतरा नहीं होता है |
  2. Arcing की वजह निर्माण होने वाले घटक पूरी तरह से बाहर निकल जाते है |
  3. Dielectric strength ज्यादा होती है और arc और को बुझाने  के लिए कम जगह की जरुरत पड़ती है इसकी वजह से इसका आकार छोटा होता है |
  4. Arcing time कम होता है |
  5. जहा पर बोहोत जल्द ऑपरेशन की जरुरत होती है वहा पर इसका इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है |

Disadvantages of Air circuit breaker in hindi (एयर सर्किट ब्रेकर के नुकसान ) :-

  1. यह बोहोत ज्यादा sensitive याने संवेदनशील होता है |
  2. रखरखाव की जरुरत पड़ती है |
  3. Re-striting वोल्टेज की दिक्कत आ सकती है |
  4. इसमें करंट चॉपिंग की दिक्कत आती है |

Application of Air circuit breaker (एयर सर्किट ब्रेकर के उपयोग ) :-

  1. इलेक्ट्रिकल मशीन के बचाव के लिए
  2. Transformer, Generators और capacitors के protection के लिए
  3. Industrial Plant के बचाव के लिए
  4. इनका इस्तेमाल electricity sharing system में भी किया जाता है |
यह भी पढ़े :-
 

तो दोस्तों आज हमने Air circuit breaker in Hindi आर्टिकल में एयर सर्किट ब्रेकर के बारेमे जाना और साथी साथ उसका इस्तेमाल और उसकी जाँच  तरह से की जाती है वह देखा |

इस आर्टिकल को पढ़ने के लिए धन्यवाद आशा है की आपको पोस्ट पसंद आयी होगी आपको कुछ नया सीखने को मिला होगा, अगर पोस्ट पसंद आया तो कमेंट करके जरूर बताना और कुछ सुझाव हो तो भी कमेंट बॉक्स जरूर लिखना

अगर आपको पोस्ट पसंद आया होगा अगर पसंद आया है तो अपने दोस्तों के साथ facebook या whatsapp पर जरूर शेयर करे |

धन्यवाद ||

Previous articleRelay in hindi | relay क्या है और प्रकार कितने है
Next articleBuchholz relay in hindi | बुकोल्ज रिले रचना, कार्य सिद्धांत, उपयोग
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here