Arc welding in hindi | Arc welding kya hai

0
677

 आर्क वेल्डिंग क्या है ? आर्क वेल्डिंग के प्रकार 

Arc welding in hindi इस आर्टिकल में हम आज देखने वाले है की आर्क वेल्डिंग क्या है और आर्क वेल्डिंग के प्रकार कोनसे है और इनका इस्तेमाल कहा पर किया जाता है | वेल्डिंग का इस्तेमाल हर जगह पर किया जाता है ताकि दो metal के parts को एक दूसरे के साथ जोड़ा जा सके | दो metal को एक साथ जोड़ने के लिए वेल्डिंग बोहोत ही कारगर है और काम खर्चीला भी है|

AVvXsEhVYo5uG5kCjnmivCzgdKuNtJhj9bNwm0sFsNb d6TcGN MVvJo31hCtXISYvRXGtu6IKTACbWx39u7UT8O1rrEdpKlonNLN6RLpdUdqYJIzr7kvKXz FIj053BqZgQrmHdRzq8eJVmArr djDLtlUtip QjjlHu43aa99IfYDtUCySJVFNs1Xl0Fr3=w400 h266 Electricaldose
Arc welding in Hindi

आर्क वेल्डिंग क्या है ?(What is arc welding in Hindi? ) :-

आर्क वेल्डिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसमे दो metal के हिसो को एक सही तापमान पर लेजाकर उन्हें एक दूसरे स वेल्ड किया जाता है औरयह तापमान arc की वजह से निर्माण होता है | arc की वजह से metal पूरी तरह से पिघल जाता है और दो मेटल के बिच में बोहोत अच्छा जोड़ बन जाता है और एक single metal मिल जाता है |

Arc welding in hindi | Arc welding kya hai
Arc welding in Hindi

ऊपर दिखाई गई चित्र (image) में हम ectrical arc welding का electric circuit देख सकते है | उस वेल्डिंग सर्किट में हमें एक वेल्डिंग मशीन, दो leads , electrode holder ,electrode देखने को मिलता है |

arc welding का बोहोत ज्यादा इस्तेमाल metal के पार्ट्स को जोड़ने के लये होता है | साथी साथी repair work में भी बोहोत इस्तेमाल होता है|

अगर आपको welding क्या है एसके बारेमे और जानना ही तो welding in hindi इस आर्टिकल को जरूर पढ़े

Types of welding ( वेल्डिंग के प्रकार):-

1) Gas Welding (गैस वेल्डिग):-
 i) Oxyacetylene  ⅱ) Air-acetylene ⅲ) Oxy-hydrogen
 i) Spot Welding  ⅱ) Butt Welding ⅲ) Projection Welding ⅳ)Seam Welding v)Percussion Welding
 i) Carbon arc Welding ⅱ) Metal arc Welding ⅲ) Gas metal arc welding ⅳ)Gas tungsten arc welding  v)Atomic hydrogen arc Welding ⅵ) Plasma arc Welding ⅶ) Submerged arc Welding ⅷ) Flux-cored arc Welding ⅸ) Electro-slag Welding
4) Thermit Welding  (थर्मिट  वेल्डिंग)
 
5) Solid-state Welding (सॉलिड स्टेट वेल्डिंग ):-
 i) Friction Welding ⅱ) Ultrasonic Welding ⅲ) Diffusion Welding ⅳ) Explosive Welding
6) Newer Welding (न्यू वेल्डिंग ):-
 i) Electron beam welding ⅱ) Laser Welding

आर्क वेल्डिंग जिस तरह काम कराती है ? (How arc welding works ) :-

इस प्रक्रिया में दो conductors याने electrode और metal piece को नजदीक लाया जाता है उसकी वजह से दोनों कंडक्टर के बिच में arc उत्पन्न हो जाती है क्यू की दोनों conductors इलेक्ट्रिकल करंट से जुड़े होते है  | दोनों कंडक्टर्स को दूसरे से जोड़ कर रखा जाता है और उसके बाद उन दोनों सिरों को थोड़े अन्तर से अलग किया जाता है उसकी वजह से दोनों के बिच में electrical arc उत्पन्न हो जाती है|

 छोटे air gap में से लगातार current लगातार बहता रहता है उसकी वजह से वह पर बोहोत ज्यादा heat निर्माण हो जाती है, इस गर्मी की वजह से मेटल पार्ट पिघल  जाता है उसी वक्त फिलर मटेरियल को वहा पर लगाया जाता है  उसकी वजह से  एक अच्छा धातु जा जोड़ बन जाता है |

इस वेल्डिंग में किसी तरह के pressure  देने की जरुरत नहीं पड़ती है इस लिए कई बार इस वेल्डिंग को non pressure welding भी जहा जाता है | इस तकनीक याने arc का इस्तेमाल metal कटाई में भी किया जाता है

|

आर्क वेल्डिंग के प्रकार (Types of Arc Welding ) :-

     i) Carbon arc Welding
    ⅱ) Metal arc Welding
    ⅲ) Gas metal arc welding
    ⅳ) Gas tungsten arc welding
    v) Atomic hydrogen arc Welding
    ⅵ) Plasma arc Welding
    ⅶ) Submerged arc Welding
    ⅷ) Flux-cored arc Welding
     ⅸ) Electro-slag Welding
 

1) Carbon arc Welding (कार्बन आर्क वेल्डिंग ) :-

Carbon arc welding की प्रक्रिया मेटल आर्क वेल्डिंग से अलग होती है यह वेल्डिंग जिस तरह गैस वेल्डिंग की जाती है उसी तरह की है |  Carbon arc को बनाए रखना बोहोत ही सीधा और आसान है | इसमें जो आर्क उत्पन्न होती है उस आर्क को थोड़ो बढ़ाना संभव होता है | इसके दो मुख्य फायदे है जो की वेल्डिंग स्पीड और बोहोत अच्छे  तरह से वेल्डिंग हो जाती है |

Arc welding in hindi | Arc welding kya hai
Arc welding in Hindi

ऊपर दिखाई चित्र में हम देख सकते है की किस तरह carbon arc welding को किया जाता है |

इस प्रक्रिया में carbon या फिर graphite rod को negative electrode की तरह इस्तेमाल किया जाता है और work piece को positive electrode की तरह इस्तेमाल होता है| ज्यादा तर graphite का इस्तेमाल किया जाता है क्यू की इसकी life ज्यादा होती है और साथी साथ resistance कम होता है इसकी वजह से current conducting क्षमता ज्यादा होती है |

जब आर्क उपन्न होती है तब आर्क का तापमान करीब 3200 ℃ से से ऊपर होता है | Carbon rod को इस्तेमाल करने का एक बोहोत बड़ा कारन है की  टिप पर workpiece के मुकाबले काम heat उत्पन्न होती है |

ऊपर दिखाई गयी image में हम अच्छे से देख सकते है की carbon arc welding किस तरह से काम   करती है |

arc welding in hindi

2) Metal arc welding (मेटल आर्क वेल्डिंग ) :-

इस metal arc welding की यह खास बात है की इसमें जिस मेटल को वेल्ड करना है उसी मेटल को metal rod की तरह इस्तेमाल किया जाता है | उसकी वजह से यह मेटल रोड का भी काम कराती है और filler material का काम भी कराती है | उसकी वजह से इसमें अतिरिक्त मेटल रोड की जरुरत नहीं पड़ती है |

जब दोनों मेटल की बिच में आर्क उत्पन्न होती है तब मेटल रोड पिघल जाता है और जैसे जैसे arc आगे लेते जायेंगे वैसे ही मेटल पिघल कर parent मेटल में एकजुट हो जायेगा | इस तकनीक में लगभग तापमान 2400℃ negative electrode में और  positive electrode 2600℃|

इस तरह की वेल्डिंग में दोनों AC और DC का उपयोग हो सकता है | DC सप्लाई के लिए लगभग 50-60 volt और AC के लिए 70-100 volt का इस्तेमाल होता है|

metal arc welding निचे दिखाई चित्र में हम देख सकते है |

Arc welding in hindi | Arc welding kya hai
Arc welding in Hindi

एक बोहोत अच्छे वेल्ड के लिए तीन बातो का जरुरी है जो की वेल्डिंग का स्पीड, correct current और voltage को होना जरुरी है | अच्छा करंट और अच्छे टाइमिंग की बदौलत बोहोत smooth, एकसमान और अच्छा वेल्ड देखने को मिलता है | अगर ज्यादा करंट आगया तो फिर undercutting भी हो सकती है |

3) Inert Gas Metal Arc Welding (इनर्ट गैस मेटल आर्क वेल्डिंग ):-

यह एक gas shield मेटल आर्क वेल्डिंग प्रक्रिया है electric आर्क में से निकलने वाले बोहोत जयदा heat को electrode wire और जिस मेटल को वेल्ड करना है वहा पर लगातार दी जति है | इसमें electrode की wire होती है जो की लगातार  जैसे जैसे वेल्ड आगे जायेगा  वैसे ही automaticaly electrode की wire भी nozzel बाहर आएगी | nozzel में से helium या फिर argon गैस लगतार arc के ऊपर और जहा वेल्ड करना है वहा पर अति रहती है|

 Inert Gas Metal Arc Welding के कुछ फायदे :-

–इस तरह की  वेल्डिंग में हीट को एक जगह केंद्रित किया जा सकता है उसकी वजह से distortion बोहोत कम हो जाता है |

–इसमें  flux की कोई जरुरत नहीं होती है इसकी वजह से हवा पिघले हुए मेटल के संपर्क में नहीं आ पाती है |

Inert Gas Metal Arc Welding का उपयोग light alloys, stainless steel और non-ferrous धातु जैसे की copper aluminium और इन दोनों का मिश्रण इन सभी के लिए इनर्ट गैस मेटल आर्क का इस्तेमाल होता है |

4) Submerged arc welding (सबमर्ज्ड आर्क वेल्डिंग ) :-

इस प्रक्रिया में bare metal electrode और weld pool के बिच में arc को उत्पन्न  किया जाता है | आर्क ोे पिघले मेटल को granular flux की चादर से ढाका दिया जाता है | यह पूरी प्रक्रिया बिना किसी presure के होती है |

इस प्रक्रिया को विकसित किया गया है ताकि ये automatic चले , high quality butt वेल्डिंग में इसका बोहोत इस्तेमाल होता है क्यू की manual वेल्डिंग के मुकाबले इसकी quality बोहोत ही अछि होती है |

इसमें जो वेल्डिंग क्षेत्र होता है उसे पूरी तरह से flux की ब्लैंकेट की मदतसे ढका दिया जाता है इसी लिए इसका नाम Submerged arc welding है |

Submerged arc welding के कुछ फ़ायदे है

— इलेक्ट्रोड वायर का सही से इस्तेमाल होता है |
— इसका ऑटोमेशन आसान है |
— ना के बराबर धुआँ निकालता है |
— edge preparion की जरूरत नहीं होती है |
— बोहोत अच्छे quality का वेल्ड करना संभव है |

इसका ज्यादा इस्तेमाल बड़े स्टील प्लेट के निर्माण में होता है, इसमें बड़े diameter pipes ,मशीन के पुर्जे ,vessels ,tanks ,और जहाज बनानेमें होता है, साथी साथ मैंटेनस और repair के काम में भी होता है |

यह भी जरूर पढ़े :-

1) Oil circuit breaker क्या है ?

2) बिजली कैसे  गिरती है ?

3) Transformer क्या है ?

4)Universal motor क्या है ?

5) Synchronous geenerator क्या है ?

Arc welding in hindi इस आर्टिकल में हमने आज arc welding kya hai यह देखा साथी साथ types of arc welding याने की आर्क वेल्डिंग के कितने प्रकार है | और उनकी सर्किट diagram भी देखे  साथी साथ उनके कुछ फायदे और नुक़्सानो पर भी नजर डाली

तो दोस्तों arc welding kya hai ये आर्टिकल आपको कैसा लगा वो कमेंट बॉक्स में जरूर बताना और अपनो दोस्तों के साथ भी जरूर शेयर करना

धन्यवाद

Previous articleWelding in hindi | वेल्डिंग क्या है? प्रकार, हानि, लाभ और इस्तेमाल।
Next articleInsulator in hindi | Insulator क्या है ? | इंसुलेटर के प्रकार
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here