Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी

0
220

 Lighting meaning in Hindi ? बिजली आसमान से क्यू गिरती है ?

Lightning meaning in hindi और बिजली क्या ? हम सभी वर्षा रुतु ने देखते है की बिजली असमान से जमिन पर गिरती है लेकिन सभी को इसके बारेमे पता नहीं होतो तो आजके आर्टिकल में हम जानेंगे की lightning meaning क्या है ? lightning and thunder क्या है साथी साथ जानेंगे की lightning strick,lightning arrester,और lightning conductor,types of lightning बिजली गिरने के प्रकार  के बारेमे जानेंगे |
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी

What is lightning meaning in Hindi?  (lightning  शब्द का अर्थ क्या है ?):

 
  1. बिजली
  2. तड़ित
  3. प्रकाश
  4. विदुत
  5. आकाशीय विद्यत
  6. मेघ विदुत
  7. दामिनी

What is Lightning and Thunder? (बिजली की परिभाषा?):

Definition:-Electric discharge between cloud and earth, cloud and cloud or between the charge centers of the same cloud is known as lightning.

हिंदी परिभाषा:- जब एक बदल और जमिन के बिच, दो बदलो के बिच या फिर एक ही बदल के दो प्रभार के दो केन्द्रों के बिच विद्युतीय मुक्ति (dischrage) होता है उसे बिजली कहा जाता है |
 
 
  • Lightning एक बोहोत बड़ी spark याने चिंगारी होती है जो तब उत्पन होती है जब बादल में का high potential (+ve और  -ve) जमिन के संबध में या फिर नजदीकी बादल में हवा के माध्यम से discharge होता है |
  • Lighting को अच्छी तरह से समझाने के लिए कुछ सिद्धांत है जिसमेसे सबसे ज्यादा अछा सिद्धांत यह है की जब नमी भरी हवा जमिन से ऊपर उठती है तब हवा और पानी के छोटे छोटे पार्टिकल्स के बिच में घर्षण (friction) होता है और तब charge निर्माण होता है
  • जब बुँदे बनती है तब जो बड़ी बुँदे होती है हो positively chrage होती है और छोटी बुँदे negatively charge होती है जब ये पानी की बुँदे एक जगह एकत्रित होती है तब बादल बन जता है और यह बदल या तो positively chrage या फिर negatively charge होता है |
  • जब बादल में charge बोहोत ज्यादा होजाता है तब्ताब हव charge यातो बगल वाले बादल में या फिर जमिन पर discharge कर देता है और हम इसी की बिजली या आकाशीय विद्यत बोलते है |
  • और जो thunder  याबे गड़गड़ाहट होती है वह इस लिए होती है क्यू की जो lightning है वह हवा ने बोहोत गरम हो जाती है और और हवा पे एक विष्फोट होता है और हमें एक जोर की आवाज आती है |

Mechanism of Lightning Strick or Lightning Discharge (बिजली

 किस तरह उत्पन्न होती है ?):-

  • जब chraged बादल जमिन के ऊपर से गुजरते है तब उसे चार्ज होता है यह charge जमिन के charge के मुकाबले विरुद्ध होता है | जब negatively charge बादल positive charge को जमिन में induced करता है |तब बादल में का चार्ज बढ़ जाता है और जमिन और बदल के बिच में का potential बढ़ जाता है तब हवा में का ग्रेडिएंट बढ़ जाता है और जब याग ग्रेडिएंट इतना हो जाता है (5kV/cm to 10kV/cm) की आजू बाजु की हवा को break करता  है और lightning की सुरुवात होती है |
  • जब हवा ब्रेक हो जाती है तब streamer याने की प्रकाश की किरण उसे leader streamer or pilot streamer भी कहा जाता है हव प्रकाश की किरण बादल से जमिन तक का सफ़र सुरु करता है, लेकिन leader streamer में इतना charge नहि होता है की हव बादल से जमिन तक का फांसला तय कर सके,निचे दिखाई गयी fig.(a) में देख सकते है |
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी
Mechanism of lightning discharge
  • बादल से जमिन तक पहुच ने केलिए जितना ग्रेडिएंट चाहिए उतना उस leader streamer में नहीं है |यह भी ध्यान देना होगा की leader streamer का current कम (<100A) और light के मुकाबले velocity propagation  0.05% होती है और इसकी चमक भी कम होती है |
  • जब  leader streamer में chargeइतना होता है की वह जमिन तक या फिर जमिन के किसी वस्तु (object) तक पोहुच जाती है |stepped leader की velocity light के one-sixth याने छठवाँ भाग जितनी होती है और यह एक स्टेप में 50m का अंतर पर करती है |इसका चित्र fig.(b) में दिखाया गया है |
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी
mechanism of lightning discharge
  • जब  leader streamer जमिन के नजदीक पोहुच जाती है तब return streamer तेजीसे जमिन से ऊपर उठती है | निचे आने अली streamer में nigative चार्ज होता है और return streamer में positive चार्ज होता है | यह घटना बोहोत जल्दी होती है और spark उत्पन्न होती है उसे ही हम lightning कहते है |
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी Mechanism of lightning discharge
 mechanism of lightning discharge

Points may be noted about lightning (बिजली गिरते समय कुछ पॉइंट):-

  1. जब हम बिजली गिरते समय या lighting discharge के समय देखते है तब हमें एक ही flash दिखता है लेकिन ऐसा नहीं होता बोहोत सारी स्पार्क होती है स्पार्क्स के बिच के अंतराल का समय 0.0005sec से 0.5 sec होता है |
  2. यह देखा गया है कि पूरी lightning में 87% negatively charged बादलो से और सिर्फ 13% बिजली positively charged बादलो से उत्पन्न होती है|
  3. अगर पूरी दुनिया कि बात कि जाये तो हर सेकेंड में 100 बार lightning strock होती है |
  4. बिजली में current की रेंज देखे तो वह 10kV से 90kV तक होती है |

Types of lightning strokes (बिजली आघात के प्रकार):-

  1. direct stroke (प्रत्यक्ष आघात)
  2. indirect stroke (अप्रत्यक्ष आघात)

1) Direct stroke  (प्रत्यक्ष आघात) :-

  • direct strock में जब बिजली गिरती है तब उसके current का पाथ बादल से जमिन पर रखे किसी चीज पर पर होता है जैसे की ओवर हेड लाइन्स और उसके बाद current insulator की मदत और poles से होकर जमिन में जाती है | Overhead lines को इसी तरह से बनाया जाता है की वह overcurrent को बर्दास्त कर सके और उसे सही तरिकेसे जमिन तक पंहुचा सके |
  • direct stroke निचे दिखाए गए दो प्रकार का हो सकता है |

          1)strock A और

          2)strock B

direct strock A  :-

  • इस स्तिथि में बिजली बादल से जमिन के किसी चीज पर गिरती है जैसे की overhead lines. बादलो में positive charge होता है |जब बादल और ओवरहेड line के बिच में का पोटेंशियल बोहोत ज्यादा हो जाता है तब बादल और ओवरहेड line के बिच में स्पार्क होता है याने बिजली गिटती है |
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी Mechanism of lightning discharge
Lightning

direct strock B  :-

  • direct strock में जब बिजली गिरती है तब strock A जैसे ही होता है लेकिन इसमे तिन बदल होते है A,B, और  C जब बादल B जो होता है वह बादल C के एकदम करीब होता है अगर बादल A बादल B के बोहोत नजदीक आ जाता है तब उन दोनों बदलो के बिच में lightning strock होता है और वह दोनों बादल वहा से दूर जाते है तब बादल C फ्री हो जाता है और जमिन कि सभी चीजो को छोड़ कर हव directly जमिन पर गिरती है|
Lightning meaning in hindi | बिजली क्या है पूरी जानकारी Mechanism of lightning discharge
Lightning

2)indirect strock (अप्रत्यक्ष आघात) :-

  • indirect strock में electrostatically charge याने विद्युत रूप से से चार्ज conductor पर तैयार हो जाता है क्यू की charged बादल conductor के नजदीक आते है |यह ऊपर  दिखाए चित्र से समाज सकते है जब positively charged बादल line के ऊपर आ जाते है तब conductor पर नेगेटिव चार्ज तैयार करते है |
  • जो negative charge उत्पन्न होता है हव सिर्फ जितने क्षेत्र में बादल है उतने ही क्षेत्र में होता है और जो जो दुसरे parts होते है वह possitively charged होते है | जब बादल दुसरे बदल पर discharge होता है या फिर कही और जाता है तब जो चार्ज conductor के ऊपर होता है वह जल्दी से जमिन तक नहीं जा पाता इससे यह होता है की दोनों तरफ positive चार्ज होने से negative चार्ज traveling wave से बरसता है | transmission line में जो lightning होती है वह ज्यादा तर indirect strock ही होते है|

Harmful Effect of lightning (बिजली गिरने के दुष्परिणाम):-

  1. travelling wave की वजह से जो की lightning strock से उत्पन्न होती है वह insulators को तोड़ सकी है और poles को भी तोड़ सकते है |
  2. travelling waves अगर transformer तक पोहुच गए तो हव winding को नुकसान पोहुचा सकते है |
  3. अगर arc power system के स्टार्टिंग में होता है वह दुसरे उपकरणों को नुकसान पोहुचा सकते है |

Protection against lightning (बिजली गिरने से कैसे बचे ):-

  1. Earthing screen
  2. Overhead ground wire
  3. LIghting arresters or surge diverters
यह भी पढ़े👇
 
 
 
Previous articleUnderground cables in hindi | अंडरग्राउंड केबल पूरी जानकारी
Next articleWind Energy and wind turbine In Hindi | पवन ऊर्जा पूरी जानकारी
नमस्ते दोस्तों Electrical dose इस ब्लॉग्गिंग वेबसाइट में आपका स्वागत है | इस वेबसाइट में हम आपको इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स के बारेमे बोहोत सारी अछि महत्वपूर्ण,और उपयोगी जानकारी जानकारी देते है. मैंने इलेक्ट्रिकल अभियांत्रिकी याने electrical engineering में diploma और Bachelor of engineering की है मुझे इलेक्ट्रिकल के बारेमे थोड़ी बोहोत जानकारी है, इसी लिए मैंने यह तय कर लिया की इस क्षेत्र में ब्लॉग बनाऊ और थोड़ी बोहोत जानकारी आपतक पहुचाऊ |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here